Khujli ki dawa - खुजली का दवा घरेलू उपाय

Khujli Ki Dawa - खुजली का दवा घरेलू उपाय

dad ki dawa,khujli ki dawa,alovera ke fayde,daad khaj khujli ki dawa,khujli ki ayurvedic dawa

Dosto हमारे में से कोई भी नहीं चाहता कि उसे khujli जैसी समस्या हो agar ek baar yah समस्या kisi ko ho jaya to uska खतरा हमेशा बना रहता है.

Aur अक्सर दोस्तों khujli हमारे हाथों पर पैरों पर और शरीर ke किसी भी हिस्से और ज्यादातर गर्दन  aur private एरिया केेे pass hoti है.

Aur खास kar yah मर्दों के jaango ke bich main hoti hai लेकिन jo आज दोस्तों हम आपके लिए उपाय लेकर आए हैं jo aaj hum apke liye upay laker aaya hai voh apki khujli ko kuch dino ke use sa खत्म करने में मदद करेगा.


Khujli ki dawa बनाने की विधि :

इस उपाय को तैयार करने के लिए सबसे पहले जो चीज चाहिए vo hai kapoor पुराने समय से khujli जेसी समस्या ko dur karne ke liye kapoor ka प्रयोग होताा है pooja main इस्तेमाल करने के साथ-साथ kapoor ka इस्तेमाल बहुत सारी बीमारियों को दूर करनेेे main kiya jaata था.

dad ki dawa,khujli ki dawa,alovera ke fayde,daad khaj khujli ki dawa,khujli ki ayurvedic dawa



Khujli ki dawa कैसे बनाएं :

kapoor ki do tiki lani hai और इसे ek कटोरी में  रखकर  किसी वजनदार चीज से बारीक पीस लीजिए jab यह kapoor  बारिक हो जाए तब आपको यह कपूर लेना है और यह पिसा हुआ कपूर आपको एक खाली कटोरी में डाल लेना है .
dad ki dawa,khujli ki dawa,alovera ke fayde,daad khaj khujli ki dawa,khujli ki ayurvedic dawa


अगली चीज जो आपको लेना है वह है दोस्तों तुलसी के पत्ते चर्म रोग से जुड़ी हुई yani ke skin infection sa judi huvi कई तरह की बीमारियों तुलसी के पत्ते बहुत fayda मंद hai ab yaha pa aap tulsi ke patta lijiye apko yaha tulsi ke मीडियम पत्ते लेने हैं tulsi ke patta आपको हर घर में आसानी से देखने को मिल जाएगी.

dad ki dawa,khujli ki dawa,alovera ke fayde,daad khaj khujli ki dawa,khujli ki ayurvedic dawa


Apko चार तुलसी के पत्ते लेना है तुलसी के छोटे-छोटे टुकड़े करके कपूर में मिला दीजिए aur iske baad aur ek chiz lani hai  वह है नींबू स्किन पर होने वाली खुजली छुटकारा देने के लिए lemon bahut hi फायदेमंद है kyu ki isme antiseptic aur anti iratatin gun paya जाते हैं jo ki hmara skin par khujli ko धीरे-धीरे कम करने में मदद करते हैं.

dad ki dawa,khujli ki dawa, daad ki dawa ka naam,purane se purane daad ki dawa

Apko yaha par ek चम्मच नींबू का रस लेना है और एक चम्मच नींबू के रस को आपको कपूर और tulsi के पत्तों मे डाल दे नींबू डालने के बाद जो हम आखिर में चीज लेंगे वह है एलोवेरा जेल एक चम्मच.

dad ki dawa,khujli ki dawa, daad ki dawa ka naam,purane se purane daad ki dawa


Alovera जेल निकालकर आपको जेल डालने के बाद आप एक चम्मच की मदद से अच्छे से हिलाकर मिक्स कर लेना है khujli ki dawa ban kar tyyar hai.



Khujli ki dawa लगाने की विधि:

dad ki dawa,khujli ki dawa, daad ki dawa ka naam,purane se purane daad ki dawa

इस उपाय ko लगाने ke liye ek रूही लीजिए aur आपके जहां भी खुजली hoti hai waha par isa 1 से 2 मिनट आपको जहां खुजली होती है वहां पर लगाना है ab apko 20 minute accha sa sukh jaya yab apko normal paani sa doh lana hai.

और अच्छे से इसे poch la ek हफ्ते तक लगातार लगाने से आप देखेंगे खुजली कम हो रही है puri tarah sa खत्म हो जाएगी.


Khujli ki dawa jaruri jaankari 


इस उपाय ko लगाने ke साथ साथ apko यहां पर कोई जरूरी बातों ka ध्यान रखना hai sabse phle नहाने के बाद जब bhi आपको अपने शरीर को pochna hai to toliye sa achha sa pochna hai आपके शरीर पर कहीं भी गीलापन नहीं होना चाहिए.

kyu ki khujli sabse jyda vahi hoti hai jaha par hum naha ne ke baad toliye se अच्छे से सफाई नहीं karte इसलिए यह हमारे private part ke आसपास सबसे ज्यादा होते हैं.

साथ ही साथ aap jab bhi नहाए to week mai do baar neem ke patta paani main उबालकर उस पानी से नहाए.

यानी कि आपको हफ्ते में दो बार नीम ke पानी se नहाना है asa karne sa apko aaga aane wali khujli sa parasni nahi hogi.

धन्यवाद.

Post a Comment

0 Comments